नवाज शरीफ का अर्थव्यवस्था पर जोर

इस्लामाबाद: नवाज शरीफ ने कहा है कि उनका जोर पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था सुधारने पर होगा. उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था अगर ठीक हो जाएगी तो बाकी के सभी मसले भी ठीक हो जाएँगे. इससे पाकिस्तान में हिंसा भी ख़त्म होगी. दहशतगर्दी ख़त्म होगी, बेरोज़गारी और गरीबी ख़त्म होगी.

नवाज शरीफ ने एक रेडियो से बातचीत में कहा कि हमें पाकिस्तान में शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे सोशल सेक्टर के मु्द्दों पर क्रांतिकारी काम करना होगा ताकि पाकिस्तान को पढ़े लिखों का मुल्क समझा जाए. अभी तो बहुत सारे लोग कहते हैं कि ये अनपढ़ों का मुल्क है. स्वास्थ्य सेवाओं को भी बहुत सुधारना पड़ेगा.

भारत के साथ रिश्तों को सुधारने को लेकर भारत यात्रा पर उन्होंने कहा कि ये कोई अहम का मसला नहीं है कि कौन पहले जाएगा. जो पहले आ सकेगा वो जाएगा, कुछ समय पहले भारतीय प्रधानमंत्री का पाकिस्तान आने का कार्यक्रम था. वो यहाँ आएँगे तो हमें बहुत खुशी होगी. मुझे मौका मिलेगा तो मैं भी जाउँगा. मैं चाहूँगा कि दोनों मुल्क बिगड़े हुए हालात से बाहर निकलें.

नवाज शरीफ ने तालिबान के मुद्दे पर कहा कि तालिबान के एक गुट ने बातचीत की पेशकश की है और पिछली सरकार की तरह इस पेशकश को रद्दी की टोकरी में फेंकने के बजाये इसे गंभीरता से लिये जाने की ज़रुरत है. उन्होंने उम्मीद जताई कि इस बातचीत से सकारात्मक परिणाम निकल सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *