मैंने विद्याचरण को गोली मारी थी

रायपुर | संवाददाता: बस्तर में कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर हमले में कथित रुप से शामिल एक कथित नक्सली को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार युवक दरभा इलाके का रहने वाला है, जहां कांग्रेस के 30 नेताओं और पुलिसकर्मियों को नक्सलियों ने मार डाला था. हालांकि पुलिस अभी तक यह ठीक-ठीक कह पाने की स्थिति में नहीं है कि भाटापारा के मोपर गांव में गिरफ्तार मंगलू नामक यह युवक नक्सली हमले में शामिल था या नहीं. हालांकि गिरफ्तार युवक का दावा है कि उसने ही विद्याचरण शुक्ल को गोली मारी थी.

पुलिस के अनुसार बुधवार की रात 10 बजे के आसपास भाटापारा से लगभग 20 किलोमीटर दूर मोपर गांव में दो घायलों के साथ एक युवक पहुंचा था. ग्रामीणों ने जब उनसे पूछताछ की तो तीनों युवक हड़बड़ा गये. इसके बाद दोनों घायल युवक वहां से भाग निकले. बाद में ग्रामीणों ने तीसरे युवक मंगलू को पकड़ लिया और पुलिस को सूचना दी. पुलिस का कहना है कि मंगलू ने जीरम घाटी नक्सली हमले में शामिल होने का दावा किया है और कहा है कि उसने ही विद्याचरण शुक्ल को गोली मारी थी. उसने कहा कि उसके साथ जो दोनों युवक थे, उनका नाम धरमू और दलसाय है और दोनों सीपीआई माओवादी से जुड़े हुये हैं.


ग्रामीणों की सूचना पर गांव पहुंची पुलिस का कहना है कि धरमू बस्तर के दरभा इलाके का रहने वाला है. हालांकि पुलिस बिना किसी सबूत के यह कहने की स्थिति में नहीं है कि गिरफ्तार युवक नक्सली है भी या नहीं. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

गौरतलब है कि 25 मई को बस्तर के जीरमघाटी में कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर नक्सलियों ने हमला कर दिया था और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता विद्याचरण शुक्ल, प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार पटेल, नेता प्रतिपक्ष रहे महेंद्र कर्मा, पूर्व विधायक उदय मुदलियार समेत 30 लोगों की हत्या कर दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!