पेड न्यूज अपराध: संपत

तिरुवनंतपुरम | समाचार डेस्क: मुख्य चुनाव आयुक्त चाहते हैं कि पेड न्यूज को चुनावी अपराध घोषित किया जाये. इस सिससिले में उन्होंने कानून मंत्रालय से सिफारिश की है. वी एस संपत का मानना है कि पेड न्यूज से चुनावी प्रक्रिया को अधिकतम नुतसान होता है.

चुनाव सुधार पर आयोजित एक सेमीनार को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ‘पेड न्यूज के भ्रष्टाचार निहितार्थों का हर किसी पर असर पड़ता है. मीडिया, उम्मीदवारों और लोगों तथा यह एक ऐसी चीज है जो चुनावी प्रक्रिया को अधिकतम नुकसान पहुंचाती है.’


सेमीनार में अपने विचार व्यक्त करते हुए वी एस संपत ने कहा कि चुनाव की घोषणा के पहले से ही सत्ताधारी दल द्वारा सरकारी उपलब्धियों के नाम पर दिया जाने वाला विज्ञापन बंद होना चाहिये.

सेमीनार में संपत ने कहा, ‘हमें चुनाव सुधारों का लंबा सफर तय करना है. बहुत से क्षेत्रों में अपर्याप्तता महसूस की गई है और व्यक्त की गई है. उपचारात्मक उपाय धीमी गति से आ रहे हैं.’

गौरतलब है कि भारत में चुनाव सुधारो को लेकर लंबे समय से विभिन्न मंचो पर बहस चल रही है लेकिन नतीजा सिफर ही रहा है. जनता भी राजनीतिक दलों के जुबानी जमा खर्च से तंग आ चुकी है. जनता फैसता चाहती है उसने अभी तक बहुत बहसबाजी देखी है.

यह देखा गया है कि राजनीतिक दलों द्वारा चुनाव के समय पेड न्यूज के माध्यम से जनता को अपने पक्ष में करने की कोशिश की जाती है जिसे चुनाव आयोग रोकना चाहता है. चुनाव सुधार का आशय यह है कि लोकतंत्र में पैसे के बल पर कोई सत्ता में न आ सके. लोकतंत्र का सर्वेसर्वा लोक होना चाहिये न कि धनबल.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!