नवाज़ इस्तीफा नहीं देंगे: पाक संसद

इस्लामाबाद | समाचार डेस्क: पाक संसद में नवाज़ शरीफ़ ने अपनी ताकत दिखा दी है. इससे इमरान खान के अलग-थलग पड़ जाने की संभावना है. पाकिस्तानी संसद ने गुरुवार को इमरान खान और ताहिरुल कादरी द्वारा प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के इस्तीफे और नेशनल असेंबली को भंग करने की मांग को खारिज करने वाले एक प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पारित कर दिया. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ प्रमुख इमरान और पाकिस्तान आवामी तहरीक नेता कादरी प्रधानमंत्री नवाज से इस्तीफे की मांग करते हुए इस्लामाबाद में एक सप्ताह से धरना दे रहे हैं.

नवाज ने इस्तीफे की मांग को खारिज कर दिया, लेकिन दोनों नेताओं को बातचीत का प्रस्ताव भेजने के साथ-साथ पिछले साल हुए चुनाव के दौरान मतदान प्रक्रिया के साथ छेड़छाड़ करने के आरोपों की भी जांच कराने को तैयार हो गए.


सरकार ने दोनों नेताओं के साथ बुधवार को पहले दौर की बातचीत की थी.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, विपक्षी पार्टियां जहां सरकार पर दबाव बना रही हैं, वहीं प्रधानमंत्री के इस्तीफे और असेंबली को भंग करने वाली असंवैधानिक मांग को खारिज करने के लिए गुरुवार को संसद में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया.

यह प्रस्ताव वरिष्ठ राजनीतिज्ञ महमूद खान अचाकजई ने संसद की संप्रभुता और संविधान की सर्वोच्चता को बरकरार रखने के लिए पेश किया.

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि प्रस्ताव प्रधानमंत्री को और मजबूत बनाएगा और इससे इमरान अलग-थलग पड़ सकते हैं. 342 सदस्यीय नेशनल असेंबली में इमरान की पार्टी पीटीआई के सिर्फ 35 सदस्य हैं. कादरी का संसद में कोई प्रतिनिधित्व नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!