‘पीके’ नकल है तो 1 करोड़ चुकाने होंगे

नई दिल्ली | मनोरंजन डेस्क: क्या फिल्म ‘पीके’ के पटकथा लेखक अभिजात जोशी ने इसकी कहानी उपन्यासकार कपिल ईशापुरी के ‘फरिश्ता’ से नकल की है? इसका फैसला दिल्ली उच्च न्यायालय में होगा. उपन्यासकार कपिल ईशापुरी ने दिल्ली उच्च न्यायालय में फिल्म ‘पीके’ के पटकथा लेखक अभिजात जोशी तथा इसके निर्माता राजकुमार हिरानी व विधु विनोद चोपड़ा पर मामला दायर कर हर्जाने के रूप में 1 करोड़ रुपयों का दावा किया है. हालांकि देश में ही 300 करोड़ से ज्यादा की कमाई तथा विदेशों को मिलाकर 600 करोड़ की कमाई करने वाले ‘पीके’ के निर्माताओं के लिये यह कोई बड़ी रकम नहीं है परन्तु सवाल चोरी का है तथा आरोप साबित होने पर राजकुमार हिरानी, विधु विनोद चोपड़ा तथा पटकथा लेखक अभिजात जोशी की अच्छी-खासी किरकिरी होने वाली है. इसी कारण से कमाई के सारे रिकॉर्ड तोड़ने वाली ‘पीके’ फिल्म फिर विवादों में है. उपन्यासकार कपिल ईशापुरी द्वारा साहित्यिक चोरी का आरोप लगाए जाने के बाद दिल्ली उच्च न्यायालय ने बुधवार को फिल्म के निर्माताओं को नोटिस जारी किया. आमिर खान अभिनीत ‘पीके’ का निर्देशन राजकुमार हिरानी ने किया है. विधु विनोद चोपड़ा व हिरानी इसके सह-निर्माता हैं.

न्यायमूर्ति नजमी वजीरी ने हिरानी, विधु चोपड़ा व ‘पीके’ के पटकथा लेखक अभिजात जोशी को नोटिस जारी कर 16 अप्रैल तक जवाब मांगा है.


ईशापुरी का आरोप है कि फिल्म में उनके हिंदी उपन्यास ‘फरिश्ता’ का कुछ अंश चुराया व कॉपी किया गया है, जो सीधे-सीधे कॉपीराइट का मामला बनता है. उन्होंने फिल्मकारों से एक करोड़ रुपये हर्जाने व उन्हें उनके काम का श्रेय दिलाने की मांग की है.

अधिवक्ता ज्योतिका कालरा के माध्यम से दायर की गई याचिका में आरोप लगाया गया है कि फिल्म निर्माताओं के साथ-साथ पटकथा लेखक अभिजात जोशी ने ‘फरिश्ता’ के किरदार, वैचारिक अभिव्यक्ति व दृश्य चुराए हैं.

उल्लेखनीय है कि ‘पीके’ की रिलीज के बाद कई हिंदूवादी संगठनों ने इसे लेकर हंगामा किया. उनका कहना था कि फिल्म हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली है, यह मामला दिल्ली उच्च न्यायालय पहुंचा, लेकिन वहां याचिका खारिज कर दी गई. अब देखना यह है कि कहानी चोरी के मामले में अदालत ‘पीके’ पर क्या फैसला लेता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!