कलेक्टर के घर सीबीआई का छापा

पटना | संवाददाता: बिहार के औरंगाबाद में ज़मीन अधिग्रहण के नाम पर दो करोड़ का घपला करने वाले कलेक्टर के घर पर सीबीआई ने छापा मारा है. कलेक्टर कंवल तनुज पर आरोप है कि उन्होंने नवीनगर में बन रहे एनटीपीसी के प्रोजेक्ट के लिये लोगों से रिश्वत ली.

सीबीआई के एसपी राजेश रंजन के नेतृत्व में की गई छापामारी में बड़ी संख्या में कंवल तनुज के घर से दस्तावेज मिले हैं. सीबीआई के सूत्रों का कहना है कि कलेक्टर के नोयडा और लखनऊ के आवास पर भी कार्रवाई की गई है. हालांकि इन जगहों से किस तरह की बरामदगी हुई है, यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है.


यह वही आईएएस कंवल तनुज है, जिन्होंने शौचालय बनवाने के लिये कथित रुप से कहा था कि अगर पैसे नहीं हैं तो बीबी को बेच दो. पीएम मोदी की सरकार का ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का प्रचार प्रसार करते हुए बिहार के औरंगाबाद में जिलाधिकारी कंवल तनुज के इस बोल को लेकर भारी विरोध हुआ था.

2010 बैच के आईएएस कंवल तनुज औरंगाबाद के कलेक्टर बनने के बाद से ही चर्चा में हैं. बिहार में कलेक्टर को डीएम कहा जाता है. एनटीपीसी की परियोजना के दौरान तत्कालीन भू-अर्जन पदाधिकारी विनोद पंकज से उलझ गये थे. देव महोत्सव के उद्घाटन समारोह में स्थानीय विधायक आनंद शंकर से भी वे उद्घाटन के दौरान तनातनी के मूड में आने के बाद विरोध झेल चुके हैं. हालांकि डिस्कस विथ डीएम प्रोग्राम चलाकर कलेक्टर ने लोकप्रियता भी हासिल की है. लेकिन इस लोकप्रियता के चक्कर में वे राजनेताओं से भी उलझते रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!