छत्तीसगढ़ में सरकार विरोधी लहर संभव: अनुराग ठाकुर

रायपुर | संवाददाता: भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद अनुराग ठाकुर का कहना है कि आगामी विधानसभा चुनावों में छत्तीसगढ़ में सत्ता विरोधी लहर की संभावना बनी हुई है. उन्होंने कहा कि चूंकि पिछले दस वर्षों से राज्य में भाजपा की सरकार है इस वजह एंटी इंकम्बेंसी (सत्ता विरोधी लहर) को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. शुक्रवार को रायपुर पहुँचे ठाकुर ने भाजपा कार्यालय में संवाददाताओं से चर्चा के दौरान यह विचार रखे.

अनुराग ठाकुर ने उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में जीत सकने वाले उम्मीदवारों को ही टिकट दिया जाना चाहिए. पिछले विधानसभा के चुनाव में करीब 20 उम्मीदवारों के टिकट काटे गए थे क्योंकि जो जीतने के काबिल है उसे ही टिकट दिए जाएं.


उन्होंने विश्वास जताया कि छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की सरकार दुबारा बनेगी. इसके लिए भाजयुमो को ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ का संकल्प लेकर काम करने कहा गया है. मोर्चा के युवाओं को 18 से 24 वर्ष के नए मतदाताओं का सर्वे कर सूची बनाने भी कहा गया है.

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री का उम्मीदवार घोषित किए जाने को लेकर भाजपा में अंतरकलह के प्रश्न पर उनका कहना था कि लालकृष्ण आडवानी भाजपा के मार्गदर्शक रहे है लेकिन देश की जनता एक शक्तिशाली व्यक्त को प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहती है.

संवाददाताओं से चर्चा के दौरान अनुराग ठाकुर ने अर्थव्यवस्था, बेरोजगारी, किसान आत्महत्या और महंगाई जैसे मुद्दों पर केंद्र की यूपीए सरकार को जमकर कोसा. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी लोगों को 4 रोटी खिलाने की बात कह रहे हैं. तीस वर्ष पहले इंदिरा गांधी ने देश से गरीबी हटाओ का नारा दिया था, उसी नारे को लेकर राहुल आज भी चल रहे हैं.

ठाकुर ने यह भी कहा कि कांग्रेस ने तेलंगाना को नया राज्य बनाए जाने की घोषणा जब से की है तब से वहां कई लोगों की जानें जा चुकी हैं. जबकि अटल बिहारी बाजपेयी ने प्रधानमंत्री रहते छत्तीसगढ़, झारखंड और उत्तराखंड तीन राज्य बनाए लेकिन उस समय किसी को भी जान देने की जरुरत नहीं पड़ी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!