जवानों की हत्या कायरतापूर्ण-रमन

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के बीजापुर जिले में नक्सलियों द्वारा अपहरण के बाद चार सहायक आरक्षकों की हत्या किए जाने की तीव्र निंदा की है. डॉ. सिंह ने कहा है कि यह नक्सलियों की कायरतापूर्ण, शर्मनाक और अमानवीय हरकत है. लोकतंत्र और सभ्य समाज में इस प्रकार की घृणित हिंसक घटनाओं के लिए कोई स्थान नहीं है.

मुख्यमंत्री ने दिवंगत सहायक आरक्षकों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना और सहानुभूति प्रकट की है. उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में हम सब इन परिवारों के साथ हैं.


डॉ. सिंह ने कहा है कि नक्सलियों ने सुरक्षा बलों का मनोबल तोड़ने के लिए इस प्रकार की निन्दनीय हरकत की है, लेकिन इसके बावजूद सुरक्षा बलों के बहादुर जवानों का मनोबल बहुत ऊंचा है और वे बीजापुर जिला सहित सम्पूर्ण बस्तर अंचल को नक्सल हिंसा और आतंक से मुक्त कराने के लिए हिम्मत और हौसले के साथ मोर्चे पर तैनात हैं.

गौरतलब है कि सोमवार की शाम माओवादियों ने चार जवानों का अपहरण कर लिया था. पुलिस सूत्रों के अनुसार बीजापुर जिले के बेदरे थाना में तैनात चार आरक्षक सोमवार दोपहर कुटरू से बेदरे के लिए रवाना हुए थे. दो जवान बस में सवार हुए थे जबकि दो जवान अपनी मोटरसाइकिल से बेदरे जा रहे थे. पुलिस आरक्षकों के आने की भनक माओवादियों को लग गई और उन्होंने जंगल में बस को रोककर उसमें सवार दोनों आरक्षकों को नीचे उतार लिया.

इसी बीच मोटरसाइकिल से सवार आरक्षक भी वहां से गुजर रहे थे जिन्हें माओवादियों ने रोका और बंदूक की नोक पर चारों को अगवा कर जंगल की ओर ले गए. जिन जवानों का अपहरण हुआ था, उनमें सहायक आरक्षक जयदेव यादव, सहायक आरक्षक राजू तेला, सहायक आरक्षक मंगल सोड़ी और सहायक आरक्षक रामा मज्जी शामिल हैं. आज सुबह इन सभी सहायक आरक्षकों की हत्या कर के उनके शव को कुटरु मार्ग पर फेंक दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!