संतो के आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ समृद्ध: रमन

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा कि महानदी, पैरी और सोंढूर नदियों के पवित्र संगम पर राजिम छत्तीसगढ़ का प्रमुख तीर्थ है, जहां भगवान राजीव लोचन और कुलेश्वर महादेव की कृपा से हर साल आयोजित हो रहे राजिम कुंभ में देश-विदेश से सन्त महात्माओं ने आकर हमेशा छत्तीसगढ़ को अपना आशीर्वाद प्रदान किया है.

उन्होंने कहा कि उनके आशीर्वाद से ही आज छत्तीसगढ़ अकाल मुक्त होकर निरन्तर समृद्धि और खुशहाली की ओर बढ़ रहा है. राज्य निर्माण के मात्र चौदह वर्षो में छत्तीसगढ़ ने धान के उत्पादन में ऐतिहासिक कीर्तिमान बनाया है. हमारे यहां सहकारी समितियों में किसानों द्वारा समर्थन मूल्य पर बेचे जाने वाले धान की आवक सात लाख टन से बढ़कर लगभग 80 लाख टन तक पहुंच गयी है.


मुख्यमंत्री ने कहा है कि छत्तीसगढ़ देवी-देवताओं, सन्त महात्माओं और ऋषि-मुनियों की पवित्र भूमि है. मुख्यमंत्री ने आज रात राजिम कुंभ के अवसर पर सप्ताह व्यापी सन्त समागम का शुभारंभ करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए.

सन्त समागम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने जनता के सहयोग से राजिम के परम्परागत वार्षिक मेले को उसकी गरिमा के अनुरूप राजिम कुंभ का स्वरूप दिया है. छत्तीसगढ़ सहित देश के विभिन्न राज्यों से यहां आने वाले साधु-संतों ने भी इस वार्षिक आयोजन को अपनी मान्यता देकर छत्तीसगढ़ का सम्मान बढ़ाया है.

डॉ. रमन सिंह ने इस मौके पर राजिम के वैभवशाली इतिहास पर अनुसंधान के लिए वहां महानदी के किनारे पुरातत्व उत्खनन कार्य का शुभारंभ भी किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार राज्य में कृषि संस्कृति और ऋषि संस्कृति के संरक्षण तथा संवर्धन के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. राजिम और शिवरीनारायण सहित राज्य के अनेक ऐतिहासिक, धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व के दर्शनीय स्थलों में व्यापक जनभागीदारी से महोत्सवों के आयोजन की परम्परा शुरू की गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!