तीसरे मोर्चे पर मुलायम कड़क

लखनऊ | संवाददाता: तीसरे मोर्चे में समाजवादी पार्टी फिलहाल शामिल नहीं होगी. सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का कहना है कि तीसरे मोर्चे की संभावना चुनाव बाद ही देखी जाएगी. वहीं दूसरी ओर मुलायम सिंह के बेटे और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तीसरे मोर्चे की वकालत करते हुये कहा है कि तीसरा मोर्चा जरुरी है क्योंकि देश में कांग्रेस-भाजपा कमजोर हो गई हैं.

यह गौरतलब है कि पिछले 20 साल की राजनीति में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव तीसरे मोर्चे के अगुवा रहे हैं. वैसे भी उत्तर प्रदेश की ताकत के बिना तीसरे मोर्चे को कमजोर ही माना जाता है. लेकिन भाजपा और कांग्रेस के साथ बराबर की दोस्ती-दुश्मनी निभा रहे मुलायम सिंह यादव फिलहाल तीसरे मोर्चे की गतिविधियों का आंकलन कर रहे हैं.


इधर बेंगलुरु में अखिलेश यादव ने कहा कि यह अनुमान लगाना मुश्किल है कि वैकल्पिक मोर्चा क्या रूप होगा लेकिन समाजवादी पार्टी ने हमेशा ही कांग्रेस और बीजेपी से टकराने में अहम भूमिका निभाई है. जब उनसे पूछा गया कि क्या वह वैकल्पिक मोर्चा के गठन के लिए दूसरे नेताओं से मिल रहे हैं, तो अखिलेश का कहना था कि इस बारे में वे विचार करेंगे क्योंकि सभी छोटे दलों के एक मंच पर आने से भारतीय राजनीति और तीसरे मोर्चे को लाभ ही मिलेगा.

अखिलेश यादव ने नरेंद्र मोदी को लेकर कहा कि मोदी की पदोन्नति और उनका जादू उत्तर प्रदेश में कुछ नहीं कर पाएगा. उनको उत्तर प्रदेश की राजनीति की असलियत मालूम है. राज्य की जनता उन्हें ठीक से जानती भी नहीं. उनका जादू बस टेलिविजन और गुजरात में चलता है. मैं इससे ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!