पुलिस की मौत की जांच एसआईटी करेगी

भोपाल | समाचार डेस्क: मध्य प्रदेश के मुरैना में पुलिस के जवान की नृशंस हत्या की जांच एसआईटी करेगी. इसकी घोषणा राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की है. उल्लेखनीय है कि पुलिस को जवान को कथित रेत माफियाओं ने डंपर से कुचलवाकर मार दिया है. मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में रेत ढोने के काम में लगे डंपर से कुचलकर पुलिस जवान की हत्या के मामले की जांच पुलिस का विशेष कार्यदल करेगा. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को भोपाल में इसकी घोषणा करते हुए कहा कि एसआईटी 15 दिन में जांच रिपोर्ट सौंपेगी. आरोप लगाया जा रहा है कि डंपर रेत माफिया का था. मुख्यमंत्री चौहान ने सोमवार को राज्य गृह मंत्री बाबूलाल और वरिष्ठ प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों के हुई बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि यह दुखद घटना है. इस मामले की जांच एसआईटी करेगी, जो 15 दिनों में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की जाएगी.

चौहान ने आगे कहा है कि सरकार पीड़ित परिवार के साथ है. उन्होंने पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये की मदद और शहीद फंड से एक लाख रुपये की राशि दिए जाने की घोषणा भी की. इसके अलावा राज्य सरकार मृतक जवान के परिवार को अनुकंपा के आधार पर नौकरी भी देगी.


गौरतलब है कि मुरैना जिले के नूराबाद थाने का एक पुलिस दल रविवार की सुबह धनेला गांव में लूट के आरोपी को पकड़ने जा रहा था. तभी रास्ते में रेत के परिवहन में लगा एक डंपर दिखा. पुलिस जवान धर्मेद्र सिंह चौहान ने जीप से उतर कर डंपर को रोका तो डंपर चालक ने वाहन को तेजी से पीछे कर दिया था, जिसकी चपेट में आकर धर्मेद्र की जान चली गई.

उधर, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाबू लाल गौर ने मुरैना जिले में डंपर से कुचलकर एक पुलिसकर्मी की मौत को हत्या करार दिया है. गौर ने सोमवार को एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि पिछले दिनों ड्यूटी पर तैनात पुलिस के सिपाही धर्मेद्र सिंह चौहान ने रेत माफिया का एक डंपर रुकवाया था. उसी दौरान डंपर चालक ने वाहन लेकर भागने के क्रम में सिपाही को कुचल दिया.

उन्होंने कहा कि सिपाही के परिजनों को फौरी सहायता दी गई है. उन्होंने आश्वासन दिया कि परिवार को पूरी मदद दी जाएगी. हालांकि, उन्होंने बाद में कहा कि यह हत्या है या गैर इरादतन हत्या, इसका खुलासा जांच के बाद ही हो पाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!