सिवान जेल परिसर से 43 मोबाइल जब्त

सिवान | समाचार डेस्क: सिवान जेल परिसर में शहाबुद्दीन से मिलने आये लोगों से मोबाइल फोन जब्त किये गये. उल्लेखनीय है कि सिवान के हिन्दुस्तान के पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या में शहाबुद्दीन का हाथ होने का आरोप भाजपा लगा रही है. बिहार के सिवान में पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के बाद पुलिस और जिला प्रशासन ने बुधवार को सिवान जेल की सुरक्षा का जायजा लिया और जेल में बंद राष्ट्रीय जनता दल के नेता और पूर्व सांसद शहाबुद्दीन से मिलने आए 63 लोगों से पूछताछ की और 43 लोगों के मोबाइल फोन जब्त कर लिए. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, जिलाधिकारी महेंद्र कुमार और पुलिस अधीक्षक सौरभ कुमार शाह ने दोपहर में सिवान जेल की सुरक्षा का जायजा लिया और कई लोगों से पूछताछ की.

महेंद्र कुमार ने कहा, “हम लोग जेल की सुरक्षा का जायजा लेने जेल पहुंचे थे. इस क्रम में जेल प्रशासन को सुरक्षा कमियों को दूर करने के निर्देश दिए गए.” उन्होंने जेल के अंदर किसी प्रकार की छापेमारी से इंकार किया है.

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जेल परिसर में फोन लेकर आए 63 लोगों से पूछताछ की गई और 43 मोबाइल फोन जब्त किए गए.

उन्होंने कहा, “सभी जब्त फोन के कॉल डिटेल की जांच की जा रही है. जांच के बाद जो भी दोषी पाया जाता है उस पर कार्रवाई की जाएगी.”

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने पत्रकार हत्याकांड के तार सिवान जेल से जुड़े होने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इस हत्या में बाहुबली सांसद शहाबुद्दीन का हाथ स्पष्ट रूप से सामने आ रहा है.

अपुष्ट खबरों के मुताबिक, सिवान जिले के विभिन्न वार्डो में की गई छापेमारी के दौरान पुलिस ने दो चाकू और आठ मोबाइल फोन बरामद किए हैं.

उल्लेखनीय है कि सिवान जिले के हिन्दुस्तान अखबार के ब्यूरो चीफ राजदेव रंजन की अज्ञात हमलावरों ने शुक्रवार शाम गोली मारकर हत्या कर दी थी.

बिहार के मुख्यमंत्री इस पूरे मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो से कराने की अनुशंसा कर चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *