बनारस में सोनिया का ‘मेगा-शो’

वाराणसी | समाचार डेस्क: सोनिया गांधी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश में मोदी के बनारस में ‘मेगा शो’ किया. इस रोड-शो को कांग्रेस की तरफ से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के प्रचार का आगाज़ माना जा रहा है. सोनिया के रोड-शो में अभूतपूर्व भीड़ इकठ्ठा हुई जिससे उऩ लोगों की जुबान पर ताला लग गया है जो कांग्रेस के खात्मे की भविष्यवाणी कर रहे थे. उत्तर प्रदेश की सांस्कृतिक नगरी व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में पहली बार कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी अलग तेवर में दिखाई दीं. रोड-शो के माध्यम से विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के अभियान की शुरुआत करते हुए उन्होंने मंगलवार को चुनावी बिगुल फूंक दिया. पार्टी ने इस रोड शो को भव्य बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी.

सोनिया गांधी का बाबतपुर हवाईअड्डे पर कांग्रेस के दिग्गज नेता शीला दीक्षित, सलमान खुर्शीद, प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, प्रकाश जायसवाल, पीएल पुनिया, प्रमोद तिवारी सहित अन्य नेताओं ने अगवानी की.


हवाईअड्डे से निकलते ही कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष पर गुलाब की पंखुड़ियों की बारिश की. वाराणसी के सांसद नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष का यह पहला बनारस दौरा है.

कांग्रेस अध्यक्ष का स्वागत करने के लिए पिंडरा के विधायक अजय राय सैकड़ों बाइक सवार कांग्रेसियों के साथ बाबतपुर चौराहे पर मौजूद थे. जैसे ही सोनिया का काफिला यहां पहुंचा, जोरदार नारों के साथ बाइकर इसमें शामिल हो गए.

पूर्व सांसद राजेश मिश्र की अगुवाई में तरना मोड़ पर हजारों कांग्रेसियों ने पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष का स्वागत किया. सोनिया गांधी ने अपनी गाड़ी से हाथ हिलाकर सभी कार्यकर्ताओं का अभिवादन किया. यहां से भी काफी संख्या में बाइकर उनके काफिले में शामिल हुए.

सर्किट हाउस पहुंचने पर सोनिया गांधी का वरिष्ठ नेता राजेशपति त्रिपाठी व अन्य ने भव्य स्वागत किया. यहां पहले से ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटी थी. इनके नारों से पूरा माहौल गुंजायमान था.

सर्किट हाउस में विश्राम के बाद सोनिया गांधी दिन में लगभग एक बजे अंबेडकर चौराहा, कचहरी से अपना रोड-शो शुरू किया. रास्ते में नदेसर, चौकाघाट, अलईपुर, गोलगड्डा, मैदागिन होते हुए उनका रोड-शो इंगलिशिया लाइन तक पहुंचा.

इस मौके पर उप्र में कांग्रेस की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित ने कहा कि इस बार उप्र में कांग्रेस की सरकार बननी तय है. कांग्रेस सत्ता में आएगी तो पूर्वाचल को विशेष पैकेज दिया जाएगा. पिछले 27 वर्षो तक पूर्वाचल की घोर उपेक्षा हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!