चीनी हो रही ‘शुगर फ्री’

लखनऊ | एजेंसी: पश्चिमी उत्तर प्रदेश की कई चीनी मिलें अब ऐसी चीनी तैयार कर रही है, जिनका सेवन मधुमेह के रोगी भी आराम से कर सकते हैं. फैट फ्री और शुगर फ्री होने के चलते मिलों में तैयार इस चीनी की मांग देश-विदेश में होने लगी है. ऐसी चीनी की कीमत सामान्य चीनी की अपेक्षा थोड़ी ज्यादा है. जानकारी के मुताबिक, मेरठ की नंगलामल, मवाना, दौराला, सिंभावली व बुलंदशहर की साबितगढ़ समेत प्रदेश की 29 चीनी मिलें शुगर फ्री तैयार कर रही है. दानेदार चीनी की तरह दिखने वाला यह उत्पाद शुगर व फैट फ्री है. बाजार में इसकी कीमत 55 रुपये प्रति किलो है.

मेरठ मंडल के गन्ना उपायुक्त डॉ. बीपी सिंह के मुताबिक, जिन मिलों में सामान्य चीनी के अलावा अन्य उत्पाद तैयार हो रहा है, उनकी अलग से रिपोर्ट तैयार हो रही है, ताकि पता चल सके कि इन मिलों में अतिरिक्त उत्पाद कितना तैयार हो रहा है. वह उत्पाद कहां-कहां भेजा जा रहा है. इस रिपोर्ट से यह स्पष्ट होगा कि मिलों को कितना मुनाफा हो रहा है. रिपोर्ट गन्ना आयुक्त को भेजी जाएगी.


गन्ना आयुक्त सुभाष शर्मा ने बताया कि मेरठ की नंगलामल, मवाना, दौराला, सिंभावली समेत प्रदेश की 12 मिल ऐसी हैं, जो 13 तरह की चीनी बना रही है. इन मिलों में तैयार उत्पाद की मांग देश-दुनिया में है. उन्होंने बताया कि हाल ही में हुई समीक्षा बैठक में इन चीनी मिलों में तैयार शुगर फ्री चीनी के बारे में पता चला है.

उन्होंने बताया कि इन मिलों का प्रबंधन अपने यहां रिफाइंड प्लांट लगाकर शुगर फ्री चीनी समेत अन्य उत्पाद तैयार कर भारी मुनाफा कमा रहे हैं. लेकिन इसके मुनाफे का फायदा किसानों को नहीं हो रहा, जिसके बारे में रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई पर विचार किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!