जबरन वेश्यावृत्ति कराने वाले दो गिरफ्तार

अंबिकापुर | संवाददाता: घर से पढ़ाई-लिखाई व काम सिखाने के बहाने कम उम्र की लड़कियों को यहां से बाहर ले जाकर वेश्यावृति के गर्त में ढकेलने के 2 आरोपियों को अंबिकापुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

इस मामले में आरोपियों की खोज में अम्बिकापुर पुलिस द्वारा गुजरात के सूरत में विगत दिनों जाल बिछाकर दो आरोपियों को धर दबोचा. जिसे पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार कर सूरत ‹न्यायालय से ट्रांजिट रिमांड पर लेकर अम्बिकापुर पहुंची.


पुलिस द्वारा अ‹न्य कई मामले में दोनों आरोपियों को रिमांड में लेकर और पूछताछ की जा रही है. ™ज्ञात हो कि विगत 28 जनवरी को प्रतापपुर नाका अम्बिकापुर में निवास करने वाली महिला द्वारा थाना अम्बिकापुर में इस आशय से रिपोर्ट दर्ज कर वायी थी कि उसकी 10 वर्षीय बेटी को सीताबाई, अमिता बड़ा उर्फ सुनिता एवं करा के द्वार घर से पढ़ाने-लिखाने एवं काम सिखाने के बहाने लेकर बिलासपुर चले जाने एवं उक्त प्रार्थिया द्वारा कई बार संपर्क करने पर भी आरोपियों के द्वारा किसी प्रकार का कोई संपर्क नहीं करने से थाना अम्बिकापुर में गुम इंसान का मामला दर्ज कराया गया था.

जांच के दौरान उपरोक्त आरोपियों के द्वारा पीडि़ता को सूरत एवं सूरत से लगे क्षे˜त्र कीम, नवापुरा, कोश्म्बा रखकर वेश्यावृžत्ति कराकर आर्थिक लाभ अर्जित किया जाना पता चलने पर थाना अम्बिकापुर में अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया. आरोपियों के पतासाजी के लिये थाना अम्बिकापुर से पुलिस की एक टीम सूरत भेजी गई थी, जिनके द्वारा उक्त अपराध के आरोपियों का पता तलाश उनके मिलने के स्थानों पर स्थानीय पुलिस की मदद से किया गया, परंतु उस दौरान सफलता नहीं मिल सकी.

विगत 23 जनवरी को उक्त गुमशुदा गांधीनगर क्षेत्र की एक और लड़की के साथ सूरत कौशम्बा से किसी प्रकार आरोपियों के चंगुल से बचकर अम्बिकापुर पहुंची, पूछताछ करने पर आरोपियों द्वारा पीडि़ता को कुछ दिनों तक बिलासपुर में रखने के उपरांत करण एवं अमिता बड़ा उर्फ सरिता के द्वारा वेश्यावृžत्ति कराने के उद्देश्य से गुजरात लेकर चले गये थे.

इसी तरह एक अन्य पीडि़ता ने बताया कि आरोपी करण ने प्रेम जाल में फंसाकर शादी का प्रलोभन देकर अपने साथ सूरत ले गया, वहां उससे वेश्यावृžत्ति कराने लगा था. थाना गांŠधीनगर में उक्त पीडि़ता के रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया .

मामले की गंभीरता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक सुंदर राज पी द्वारा उप निरीक्षक मनीष शर्मा के नेतृˆव में एक विशेष टीम गठित कर पीडि़त से मिले आरोपियों के मोबाइल नंबर के आŠधर पर क्राईम ब्रांच से प्राप्त मोबाइल नंबरों के टॉवर लोकेशन डिटेल एवं कॉल डिटेल रिकार्ड के आधार पर टीम सूरत भेजी गई.

सूरत शहर पहुंचकर स्थानीय पुलिस की मदद से टॉवर लोकेशन के स्थानों पर दबिश दी गई. दबिश के दौरान विगत 2 फरवरी को आरोपियों का टॉवर लोकेशन सूरत शहर के पर्वतपटिया क्षेत्र में पाये जाने से तत्ˆकाल मौके पर पहुंचकर दबिश दी गई, जहां उक्त आरोपियों को पीडि़ता द्वारा बताये गये हुलिये के अनुसार पवर्तपटिया सड़क किनारे उपस्थित मिले, जि‹हें पूछताछ पर उनके द्वारा अपराध कबूल किया गया. साथ ही उक्त आरोपियों से पीडि़ता द्वारा बताये गये मोबाइल नंबरों की भी जानकारी ली गई, जो कि उनके कŽब्जे से उक्त दोनों मोबाइल मिले. इसी दौरान दोनों आरोपियों के साथ एक अन्य पीडि़ता भी मिली, जिससे पूछने पर उसके द्वारा बताया गया कि वह थाना उदयपुर जिला सरगुजा की रहने वाली है, जिसे आरोपी करण द्वारा ही सूरत ले जाना बताया गया.

मामले में एक आर पी महिला होने के कार‡ण पुन: ‰थाना गांŠधीनगर से सउनि शारदा सिंह के नेतृˆव में महिला टीम भेजी गई. दोनों टीमों द्वारा आरोपी करण उर्फ बबलू डोम मोतीहारी पो नारायणी जिला बांदा उत्तर प्रदेश एंव अमिता बड़ा उर्फ सरिता ग्राम करंजी झिंगाड़ाड थाना राजपुर जिला बलरामपुर को गिरफ्तार कर सूरत न्यायालय से ट्रांजिट रिमांड पर लेकर अम्बिकापुर पहुंचे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!