सप्ताह में सेंसेक्स-निफ्टी चढ़े

मुंबई | एजेंसी: देश के शेयर बाजारों में इस सप्ताह तेजी का रुख रहा. प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी में करीब पांच फीसदी की तेजी रही. भारतीय रिजर्व बैंक की वैधानिक तरलता अनुपात में 50 आधार अंकों की कटौती से निवेशकों में सकारात्मक संदेश गया.

उधर प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से यह संकेत दिया गया कि सरकार प्रशासनिक कार्यप्रणाली को और बेहतर करना चाहती है. इसका भी बाजार पर सकारात्मक असर देखा गया.

बंबई स्टाक एक्सचेंज का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स छह जून को समाप्त सप्ताह में 1,179.12 अंकों यानी 4.86 फीसदी की तेजी के साथ 25,396.46 पर बंद हुआ. इसती तरह नेशनल स्टाक एक्सचेंज का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 353.45 अंकों यानी 4.88 फीसदी की तेजी के साथ 7,583.40 पर बंद हुआ.

निवेशकों का रुझान मिडकैप और स्मॉलकैप की ओर बना रहा. मिडकैप सूचकांक जहां 631.32 अंकों या 7.45 फीसदी के साथ 9,098.54 पर बंद हुआ वहीं स्मॉलकैप सूचकांक 758.31 अंकों यानी 8.41 फीसदी की तेजी के साथ 9,774.04 पर बंद हुआ. दोनों सूचकांकों में सेंसेक्स से ज्यादा की तेजी रही.

विनिर्माण सेक्टर के सर्वेक्षण रिपोर्ट में पिछले माह के आंकड़े में इस सेक्टर की विकास दर में तेजी की बात सामने आने और विदेशी निवेशकों के भारी मात्रा में शेयर खरीदने के आंकड़े आने से बाजार में सकारात्मक रुख रहा. यही वजह रही की सप्ताह के पहले कारोबारी दिन सोमवार को सेंसेक्स में 467.51 यानी 1.93 फीसदी की तेजी रही और यह 24,684.85 पर बंद हुआ. 26 मई के बाद यह सेंसेक्स का सर्वोच्च स्तर था.

सेंसेक्स में मंगलवार को 173.74 अंकों यानी 0.7 फीसदी की तेजी रही और यह 24,858.59 पर बंद हुआ. बुधवार को यूरोपीय और एशियाई बाजारों में कमजोरी के रुख से सेंसेक्स में 52.76 अंकों यानी 0.21 फीसदी की गिरावट रही और यह 24,805.83 पर बंद हुआ.

मानसून अनुकूल रहने की खबरों के बीच गुरुवार को सेंसेक्स में 213.68 अंकों यानी 0.86 फीसदी की तेजी रही और यह 25,019.51 पर बंद हुआ.

इससे एक दिन पूर्व बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विभिन्न विभाग के सचिवों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की थी जिसमें उन्होंने अधिकारियों से निर्णय लेने की की बात कही और आश्वासन दिया वह उनके साथ है.

सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को सेंसेक्स में 376.95 अंकों यानी 1.51 फीसदी की तेजी के साथ 25,396.46 पर बंद हुआ.

इस सप्ताह मंगलवार को भारतीय रिजर्व बैंक ने मौद्रिक समीक्षा नीति में रेपो रेट में बिना कोई परिवर्तन किए 8 फीसदी पर बरकार रखा, इसी तरह सीआरआर को भी चार फीसदी पर बरकरार रखा. रिजर्व बैंक ने वैधानिक तरलता अनुपात में 50 आधार अंकों की कटौती कर 22.5 फीसदी कर दिया. यह 14 जून से प्रभावी होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *