NSUI ने मांगा शिवराज का इस्तीफा

भोपाल | समाचार डेस्क: मध्य प्रदेश में कांग्रेस के छात्र संगठन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के इस्तीफे की मांग को लेकर शिक्षण संस्थाओं को बंद कराया. मध्य प्रदेश के व्यापमं घोटाले की जांच सर्वोच्च न्यायालय द्वारा केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो को सौंपे जाने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे की मांग जोर पकड़ने लगी है. कांग्रेस की छात्र इकाई भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ ने शिवराज के इस्तीफे की मांग को लेकर शुक्रवार को प्रदेशभर के कॉलेज बंद कराए.

मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर राजधानी भोपाल से लेकर अन्य जिलों में शुक्रवार की सुबह से ही एनएसयूआई के कार्यकर्ता सक्रिय रहे. उन्होंने जगह-जगह जुलूस निकालकर कॉलेज बंद कराए. एनएसयूआई का कहना है कि शिवराज के राज में राज्य के छात्रों का भविष्य बर्बाद हुआ है, इसलिए उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए, ताकि यह सिलसिला जारी न रहे.


राजधानी भोपाल में एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष अशुतोष कुमार के नेतृत्व में छात्रों ने रैली निकाली और कई कॉलेजों को बंद कराया. एनएसयूआई के बंद से कई स्थानों पर दाखिला लेने आए छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ा. मगर आशुतोष का कहना है कि उन्होंने किसी छात्र को कॉलेज में जाने से नहीं रोका है, छात्र खुद आंदोलन का हिस्सा बन गए.

इसी तरह राज्य के अन्य हिस्सों- इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रीवां व रतलाम में भी रैलियां निकालकर कॉलेज बंद कराए जाने की खबरें आ रही हैं. कई स्थानों पर कॉलेज बंद कराने को लेकर झड़प की नौबत भी आई. कई कॉलेजों में पुलिस बल तैनात किए गए हैं.

व्यावसायिक परीक्षा मंडल, व्यापमं राज्य में इंजीनियरिंग व मेडिकल कॉलेजों में दाखिले से लेकर विभिन्न विभागों में भर्तियों की परीक्षा आयोजित करता है. दाखिले और भर्तियों में हुई धांधली का खुलासा होने के बाद तत्कालीन शिक्षा मंत्री सहित सैकड़ों लोग जेल में हैं. इस घोटाले से जुड़े 48 आरोपियों व गवाहों की मौत हो चुकी है. मामले की गंभीरता को देखते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने व्यापमं की जांच सीबीआई को सौंपी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!