क्रिकेट से ऊबते ही सन्यास ले लूंगा: गंभीर

नई दिल्ली | एजेंसी: खराब फार्म के कारण भारतीय टीम से बाहर चल रहे सलामी बल्लेबाज गौतम गम्भीर राष्ट्रीय टीम में वापसी के लिए आईपीएल को प्लेटफार्म के तौर पर नहीं देखते.

गम्भीर ने बुधवार को कहा कि उन्होंने इस खेल में बने रहने के लिए कोई तारीख निर्धारित नहीं की है लेकिन जिस दिन पर इस खेल का लुत्फ लेना बंद कर देंगे, संन्यास ले लेंगे.

गम्भीर के लिए मौजूदा प्राथमिकता आईपीएल का सातवां संस्करण है, जो 16 अप्रैल से शुरू हो रहा है. गम्भीर कोलकाता नाइट राइर्ड्स टीम के कप्तान हैं और 2012 में उनके नेतृत्व में टीम ने आईपीएल खिताब जीता था. गम्भीर तीन सीजन से नाइट राइडर्स के कप्तान हैं.

ऐसे में जबकि वीरेंद्र सहवाग और हरभजन सिंह जैसे सीनियर खिलाड़ी यह कह रह हैं कि उनके अंदर अभी भी दो-तीन साल का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट बाकी है, गम्भीर ने अपने संन्यास के लिए कोई साल तय नहीं किया है.

रेड बुल के एक प्रोमोशन कार्यक्रम के दौरान गम्भीर ने आईएएनएस से बातचीत के दौरान कहा, “मैंने अपने लिए समय सीमा निर्धारित करने के बारे में सोचा नहीं है. मैं इस बारे में नहीं सोचता कि मैं और कितने समय तक खेल सकता हूं. कोई भी स्तर हो, मैं मानता हूं कि वह दिन मेरे लिए आखिरी दिन होगा, जिस दिन मैं इस खेल का लुत्फ लेना या फिर अपनी टीम के लिए योगदान देना बंद कर दूंगा, संन्यास ले लूंगा.”

गम्भीर (32) कुछ साल पहले तक भारतीय टीम का अभिन्न अंग थे. उन्होंने 2011 में भारतीय टीम को विश्व कप खिताब दिलाने में अहम योगदान दिया था. उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 97 रनों की पारी खेली थी. अब गम्भीर खुद को घरेलू क्रिकेट में पका रहे हैं. वह फिलहाल 2015 विश्व कप में खेलने को लेकर आश्वस्त नहीं हैं.

यह पूछे जाने पर कि खाली घरेलू मैदानों पर घरेलू मैच खेलना क्या लुत्फ देता है, गम्भीर ने कहा, “घरेलू क्रिकेट हमेशा से आपके लिए पहला चरण होता है. जब तक मेरे मन में इस खेल को लेकर प्यार और सम्मान बरकरार है, मुझे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि मैं किस स्तर पर किस मैदान पर खेल रहा हूं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *