रामदेव ने बोला राम रहीम पर हमला

नई दिल्ली | संवाददाता: गुरमीत राम रहीम मामले में बाबा रामदेव ने सफाई दी है कि आरोप उनके उपर भी लगे थे. लेकिन आरोप लगने से कोई अपराधी नहीं हो जाता. उन्होंने राम रहीम की कड़ी आलोचना की और कहा कि धर्म के नाम पर इस तरह का आचरण घोर निंदनीय है.

बाबा रामदेव ने कहा है कि धर्म के नाम पर अधर्म नहीं होना चाहिए. धर्म तो जीवन का श्रेष्ठ आचरण है. ढोंग, आडंबर, पाखंड, हिंसा, क्रूरता, हत्या और बलात्कार को धर्म नहीं कहा जा सकता.


राम रहीम पर भड़के हुये बाबा रामदेव ने कहा कि कोर्ट ने जो सज़ा दी है, 15 साल तक इस पर जांच हुई है. मुझे लगता है कि देर हो सकती है मगर अंधेर नहीं है. न्याय व्यवस्था आज इतनी म़जबूत हो चुकी है कि कोई भी व्यक्ति अपराध करके बच नहीं सकता. कोर्ट ने इसका बहुत बड़ा उदाहरण पेश किया है.

रामदेव ने अपने बारे में सफाई देते हुये कहा कि आरोप हमारे ऊपर भी लगे. आरोप लगने से कोई अपराधी नहीं हो जाता लेकिन आप सच्चे हैं तो साबित करो न! और यदि आप अपराधी हैं तो जो सज़ा मिली है, उसे भुगतो. इसमें दूसरे लोगों को बीच में क्यों लाते हो?

रामदेव ने कहा दावा किया कि मुझसे लोग प्रेम करते हैं तो मेरी पवित्रता से प्रेम करते हैं. मगर जिस दिन मैं गिर जाऊं, फिर दूसरों को उकसाऊं, आग लगाने के लिए प्रेरित करूं और उनका हिंसा में अंत हो जाए, यह तो एक अपराध के बाद दूसरा अपराध है.

इधर राम रहीम के वकील ने कहा है कि वे सज़ा के खिलाफ उपरी अदालत में जायेंगे. उन्होंने आरोप लगाया कि राजनीतिक साजिश के तहत राम रहीम को निशाना बनाया गया है और उन्हें पूरा विश्वास है कि ऊपरी अदालत से उन्हें न्याय मिलेगा.

दूसरी ओर कैदी नंबर 8647 राम रहीम ने सज़ा के बाद अपनी पूरी रात जाग कर बिताई. मीडिया के अनुसार राम रहीम को खाने में चार रोटियां दी गई थीं, लेकिन राम रहीम ने केवल आधी रोटी खाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!