बस्तर में नोटबंदी का असर अब तक

जगदलपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ का बस्तर अब तक नोटबंदी के असर से जूझ रहा है. हालांकि रिजर्व बैंक ने सीलिंग हटा दी है परन्तु जगदलपुर मुख्यालय में नगदी की कमी बनी हुई है. इससे लोग खासे परेशान हो रहें हैं. नगदी की कमी के कारण उन्हें अपनी जरूरत का सामान खरीदने में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है. जगदलपुर के सभी 12 बैंकों के 38 शाखाओं में नगदी की किल्लत है.

* जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक में तीन दिन से नगदी की कमी है. ग्राहकों को केवल हजार रुपये तक दिये जा रहें हैं.


* जिला सहकारी बैंक के बस्तर, नगरनार, करपावंड, भानपुरी तथा बकावंड में रोज करीब 3 लाख रुपये लगते हैं परन्तु इन शाखाओं को 4 से 5 लाख रुपये ही दिये गये हैं.

* ग्रामीण बैंक की 16 शाखाओं में मंगलवार को ही पैसे खत्म हो गये हैं.

* स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेस्ट में केवल 3 करोड़ रुपये हैं जिस पर सभी बैंकों की नजर है.

* जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक से पिछले तीन दिनों से रोज जेढ़ करोड़ की डिमांड भेजी जा रही है पर एसबीआई से पैसे नहीं मिल रहें हैं.

* बस्तर एसबीआई को नागपुर से हवाई मार्ग से रुपये भेजे जाते हैं.

* अभी भी 4-5 दिन इसी तरह की नगदी की समस्या बने रहने की संभावना व्यक्त की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!