छत्तीसगढ़: जंगल सफारी में उमड़ी भीड़

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के जंगल सफारी में रविवार को भारी भीड़ उमड़ पड़ी. वन विभाग के आकड़ों के अनुसार रविवार पर्यटकों की संख्या 1793 रही है. भीड़ इतनी थी कि दोपहर के तीन बजे के बाद से टिकटों की बिक्री बंद करनी पड़ी.

उधर, प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि 500 के करीब लोगों को भीड़ होने के कारण अंदर जाने से वंचित रहना पड़ा. गुस्से में आकर उन लोगों ने नारेबाजी तक की.


1 नवंबर को रायपुर के जंगल सफारी का प्रधानमंत्री मोदी ने लोकार्पण किया था. राज्य का पहला जंगल सफारी होने के कारण इसे देखने के लिये धीरे-धीरे भीड़ बढ़ रही है. रविवार को तो इतनी भीड़ हो गई कि करीब 500 लोगों को टिकट ही नहीं दी गई.

पर्यटकों को 20 गाड़ियों के जरिये जंगल सफारी में भ्रमण करवाया गया. प्रत्येक गाड़ियों ने 5-5 फेरे लगाये.

जंगल सफारी में जहां 50 एकड़ क्षेत्र में ‘बाघ सफारी’ और 50 एकड़ क्षेत्र में भालुओं की ‘बीयर सफारी’ बनाया जा रहा है, वहीं 125 एकड़ क्षेत्र में चिड़ियाघर और 50 एकड़ क्षेत्र में ‘लायन सफारी’ भी बनाया जा रहा है.

इसी तरह ढाई एकड़ के क्षेत्र में क्रोकोडायल प्रदर्शन क्षेत्र भी इस जंगल सफारी का आकर्षण बनेगा. इसी तरह जंगल सफारी के लगभग 52 एकड़ क्षेत्र में जलस्रोत है, जिन्हें जलीय पक्षी के अनुकूल बनाया जा रहा है तथा रंग-बिरंगी विभिन्न प्रजातियों के पक्षियों के लिए ‘बटर फ्लाई जोन’ विकसित करने की भी योजना है.

जंगल सफारी हेतु भ्रमण शुल्क-

भारतीय व्यस्क- 200/- नॉन एसी वाहन शुल्क, एसी- 300/-
भारतीय बच्चे (6 से 12 वर्ष) 50/- एवं 100/-
भारतीय बच्चे (6 वर्ष से कम)- निशुल्क
विदेशी व्यस्क- 500/- नॉन एसी वाहन, एसी-1000/-
विदेशी अव्यस्क- 400/- एवं 800/-

फोटोग्राफी शुल्क
स्टिल/डिजीटल कैमरा- 100/-
हैण्डीकैम/वीडियो कैमरा- 500/-
व्यावसायिक वीडियो कैमरा- अनुमति उपरांत सशुल्क.

पार्किंग शुल्क
बड़े वाहन- 100/-
कार/जीप- 50/-
ऑटो रिक्शा- 30/-
मोटर साइकल- 20/-
सायकल- 10/-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!