बिलासपुर के KIMS अस्पताल में हंगामा

बिलासपुर | संवाददाता: बिलासपुर के किम्स अस्पताल में इंजेक्शन लगाने के 15 मिनट में एक महिला की मौत हो गई. जिसके बाद उसके परिजनों ने किम्स अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया. परिजनों का कहना है कि गलत इंजेक्शन लगाने से महिला की मौत हो गई है.

वहीं, किम्स अस्पताल के फीजिशियन डॉ. सुभाशीष मेहता का कहना है कि मरीज के दोनों फेफड़े खराब थे जिसकी रिकवरी नहीं हो पा रही थी. मरीज के परिजन जिस इंजेक्शन से मौत की बात कर रहें हैं वह इंजेक्शन मरीज को रोज लगाया जा रहा था.


गौरतलब है कि बिलासपुर के मगरपारा स्थित किम्स अस्पताल में आये दिन हंगामा होता रहता है. कभी पैसे के लिये शव को बंधक बनाये जाने के कारण, कभी गलत इलाज के आरोप में तो कभी ज्यादा फीस वसूलने के नाम पर बवाल होता रहता है. बताया जा रहा है कि यह अस्पताल पहले केयर ग्रुप से संबंधित रहा है परन्तु बाद में केयर ग्रुप ने किम्स अस्पताल से अपना नाता तोड़ लिया था.

छत्तीसगढ़: शव को बनाया बंधक

अपोलो अस्पताल में मानवता शर्मसार

अपोलो अस्पताल में डेंगू की मरीज से रेप

मिली जानकारी के अनुसार पेण्ड्रा निवासी रिटायर्ड वन विभाग के कर्मचारी हीरालाल जायसवाल की 37 वर्षीय बेटी प्रभा जायसवाल पिछले दिनों सर्दी-खांसी, बुखार तथा सांस लेने में तकलीफ के बाद किम्स अस्पताल में भर्ती कराई गई थी. प्रभा जायसवाल को 2 दिसंबर को किम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

शुक्रवार की शाम प्रभा को खाना खाने के बाद एक इंजेक्शन लगाया गया जिसके 15 मिनट बाद उसकी मौत हो गई. इसके बाद प्रभा के परिजनों ने गलत इंजेक्शन तथा इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुये हंगामा खड़ा कर दिया. परिजन मामले को पुलिस तक ले जाने की बात कर रहे थे परन्तु वहां शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है.

मृतका के परिजनों का यह भी आरोप है कि रोज अस्पताल के दुकान से दवायें उऩसे मंगाये जाते थे लेकिन केवल कुछ का ही उपयोग किया जाता था. परिजन अस्पताल द्वारा लंबा-चौड़ा बिल थमाने की भी बात कर रहें हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!