छत्तीसगढ़: जेल में हंगामा, लाठी चार्ज

रायपुर | संवाददाता: रायपुर सेन्ट्रल जेल में हंगामें के बाद लाठी चार्ज हुआ. गुरुवार को राजधानी रायपुर के सेन्ट्रल जेल में औचक निरीक्षण के बाद मिले आपत्तिजनक सामग्री के बाद शुक्रवार सुबह के 5 बजे फिर से चेंकिग की गई. चेंकिंग के दौरान फिर से गांजा, चरस, तंबाखू, सिगरेट तथा हथियार मिले. इन हथियारों में कील से बने चाकू तथा आरी से बनाये गये चापर तक शामिल हैं.

इस चेकिंग के दौरान कैदी हाथापाई पर उतर आये. उनकी जेल प्रहरियों से झड़प तक हो गई. देखते ही देखते यह स्थिति अन्य बैरकों में भी निर्मित हो गई. जिसके बाद जेल प्रबंधन ने पूरे बल को इकठ्ठा करके लाठी चार्ज करवाया. जिसमें कई कैदी घायल हो गये.


इस लाठी चार्ज के दौरान तीन दिन पहले दूसरे कैदी की हत्या करने वाले नरेन्द्र साहू का सिर फूट गया.

गुरुवार को चेकिंग के बाद, शुक्रवार सुबह के 5 बजे फिर से हथियार तथा मादक पदार्थ मिलना कई तरह के सवालों को जन्म देता है. आखिर एक रात में ही फिर से इन आपत्तिजनक चीजों को कहां से लाकर जमा किया गया.

जबकि पहले दिन चेकिंग में पुलिस तथा जिला प्रशासन के आला अफसर खुद उपस्थित थे.

गुरुवार को ही जेल अधीक्षक को निलंबित करके उनका कार्यभार डीआईजी डॉ. केके गुप्ता को सौंप दिया गया था.

इस बीच जेल के ही दो अधिकारियों के बीच टकराव की स्थिति निर्मित हो गई. वे एक दूसरे पर मीडिया के सामने ही ही आरोप-प्रत्यारोप लगाने लगे. जेल अधीक्षक डॉ. केके गुप्ता के हस्तक्षेप के बाद उसे रोका जा सका.

कैदियों की पिटाई सुबह 5 बजे से 8 बजे तक चली. कैदियों ने पिटने के बाद जमकर नारेबाजी की. जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुये अगुवाई करने वाले 70 कैदियों को दोपहर के 12 बजे जगदलपुर, अंबिकापुर, राजनांदगांव और दुर्ग के जेलों में शिफ्ट करवा दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!