बैंक कैशियर ने 13 लाख उड़ाया

बैकुण्ठपुर | संवाददाता: जब रक्षक ही भक्षक बन जाये तो अजब स्थिति उत्पन्न हो जाती है. ऐसा ही एक मामला कोरिया जिले के सोनहत ब्लॉक में सामने आया है. जिसमें बैंक के कैशियर ने एक विकलांग के खाते से 13 लाख 50 हजार रुपये मोबाईल बैंकिंग के माध्यम से निकाल लिये.

पुरषोत्तम नागवंशी ने सेन्ट्रल बैंक में 15 अक्टूबर 2014 को अपना खाता खुलवाया था. दो वर्ष पूर्व उसके गांव की पांच एकड़ जमीन बांध के डूबान क्षेत्र में आने के कारण उसे एसडीएम सोनहत द्वारा 17 जुलाई 2015 को चेक के माध्यम से 14.22 लाख का भुगतान किया गया. इसके अलावा उसे विकलांगता के लिये भी 1.68 लाख का चेक दिया गया.


दोनों चेकों को उसने बैंक में जमा करा दिये थे. इस बीच जरूरत के मुताबिक वह बैंक से लेनदेन करता रहा. लेकिन जब 31 जनवरी 2017 को उसने पासबुक में एंट्री कराई तो पता चला कि उसके खाते में पैसे ही नहीं हैं. पासबुक एंट्री से पता चला कि 16 नवंबर 2016 से 1 फरवरी 2017 के बीच मोबाईल बैंकिंग के माध्यम से उसके खाते से 13.50 लाख ट्रांसफर करा लिये गये हैं.

11 फरवरी के पुरषोत्तम नागवंशी ने इसकी रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवाई. पुलिस ने मामला दर्ज जांच शुरु की. जांच के बाद बैंक के हेड कैशियर सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस अभी तक केवल 70 हजार रुपये ही जब्त कर पाई है. साथ में मोबाईल फोन को भी जब्त कर लिया गया है.

विकलांग के रुपये गबन करने के मामले में बैंक का हेड कैशियर दिलीप मार्को ही मास्टर माइंड निकला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!