मिर्च के घोल वाला शिक्षक निलंबित

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में छात्रों को मिर्च का घोल पिलाने वाले शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है. स्कूली बच्चों को तोते के समान पाठ याद करने के लिये लाल मिर्च का पाउडर घोलकर पिलाने वाले शिक्षक तिरथराम गजेन्द्र को निलंबित कर दिया गया है. शनिवार को मीडिया में इस खबर के आने के बाद प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी सतीश नायर ने निलंबन का आदेश जारी कर दिया. गौरतलब है कि महासमुंद से 14 किलोमीटर दूर खैरझिटी गांव के शासकीय पूर्व माध्यमिक स्कूल के कक्षा 7वीं के कुछ कमजोर छात्रों को शिक्षक ने पाठ याद करवाने लाल मिर्ची का घोल पिलाया गया था. इसके लिये इस स्कूल के शिक्षक तिरथराम गजेन्द्र ने 7वीं कक्षा के कमजोर छात्रों से घर से लाल मिर्चा का पाउडर मंगवाया तथा उसे पानी में घोलकर पिला दिया था.

घर जाने के बाद जब छात्रों की तबियत बिगड़ने लगी तो अभिवाहकों ने इसकी शिकायत स्कूल के प्रधानाचार्य से की. उधर, शिक्षक का कहना है कि उसने कमजोर छात्रों को तोता के समान पाठ रटवाने के लिये लाल मिर्च पाउडर का घोल पिलवाया था. मान्यता है कि तोते को कोई बात बार-बार कहने से वह उसे दोहराने लगता है. तोता लाल मिर्च बड़े शौक से खाता है. इसलिये शिक्षक ने छात्रों को पाठ याद करवाने के लिये तोते का प्रिय लाल मिर्च उन्हें पानी में घोलकर पिला दिया था.


शिक्षक ने शाला विकास समिति के सामने छात्रों को मिर्ची का घोल पिलाये जाने की बात मान ली है. शाला विकास समिति के सामने शिक्षक तिरथराम गजेन्द्र ने बताया कि बच्चे क्लास में बोलने से कतराते थे तथा पढ़ाई में कमजोर थे. लिहाजा उन्हें तोता के समान बोलने के लिये उसने लाल मिर्च का पाउडर घोलकर पिलाया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!