चीन के 9 ऐप भारत में बैन

नई दिल्ली | डेस्क: भारत सरकार ने चीन के 59 स्मार्टफोन ऐप को प्रतिबंधित कर दिया है. हालांकि सरकार की ओर से जारी विज्ञप्ति में चीन का कहीं उल्लेख नहीं है. भारत ने इन ऐप्स को भारत की संप्रभुता एवं एकता, सुरक्षा और व्यवस्था के लिए नुक़सानदेह बताया है.

जिन ऐप्स को प्रतिबंधित किया गया है, उनमें टिकटॉक, यूसी ब्राउज़र और शेयरइट ऐप जैसे शामिल हैं, जो भारत में ख़ूब उपयोग होते हैं.


विशेषज्ञों का कहना है कि जिन सेलफ़ोन पर ये ऐप्स इंस्टॉल्ड हैं, वे तब तक मौजूद रहेंगे जब वे उन्हें ख़ुद नहीं हटाएंगे. हालांकि,ऐप स्टोर से हट जाने के बाद वे अपने स्मार्टफ़ोन में इंस्टॉल किए गए ऐप्स को अपडेट नहीं कर पाएंगे. लेकिन ये ऐप उनके सेल फ़ोन पर चलते रह सकते हैं.

भारत सरकार ने यह फ़ैसला उस समय लिया है जब पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों की जान जाने के बाद भारत में चीनी सामान, सॉफ्टवेयर्स और ऐप्स आदि के बहिष्कार की आवाज़ें उठ रही थीं.


इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के मुताबिक, इन ऐप्स को ‘भारत की संप्रभुता एवं एकता, सुरक्षा और व्यवस्था के लिए नुक़सानदेह’ होने के कारण प्रतिबंधित किया गया है.

आईटी मंत्रालय ने ने आईटी एक्ट के सेक्शन 69 A के तहत यह क़दम उठाया है. ये ऐप्स ऐंड्रॉयड और आईओएस,दोनों प्लैटफॉर्म्स पर प्रतिबंधित होंगे.

आईटी मंत्रालय की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि ‘भारत के करोड़ों मोबाइल और इंटरनेट यूजर्स के हितों को ध्यान में रखते हुए लिया गया है ताकि इंडिया साइबरस्पेस की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!