अचानकमार में सैकड़ों पेड़ों की अवैध कटाई

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के अचानकमार टाइगर रिजर्व की सुरक्षा व्यवस्था खतरे में है. पिछले साल भर में अचानकमार टाइगर रिजर्व में सैकड़ों पेड़ों की कटाई की गई और इनमें से एक भी प्रकरण में वन विभाग, एक भी अपराधी को पकड़ नहीं पाया है.

आशंका जताई जा रही है कि टाइगर रिजर्व के भीतर होने वाले शिकार की भनक भी वन विभाग को नहीं लग रही होगी. ऐसे में अचानकमार में बड़ी संख्या में वन्यजीवों के शिकार की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता.


अचानकमार टाइगर रिजर्व के कोर इलाके में गायों के लिए गौठान बनाने का कारनामा तो सामने आया ही है, अब सैकड़ों पेड़ों की कटाई के आंकड़े भी सार्वजनिक हुए हैं.

आंकड़ों के अनुसार 2019-20 में अचानकमार टाइगर रिज़र्व में पेड़ों की अवैध कटाई के 10 पीओआर दर्ज किए गये लेकिन इनमें से किसी भी मामले में ज़िम्मेवार अपराधी को पकड़ा नहीं गया. ज़ाहिर है, इनसे कोई जुर्माना भी नहीं वसूला जा सका. इसके बाद विभाग ने मामले को नस्तीबद्ध कर दिया.

2020-21 में पेड़ों की कटाई के रिकार्ड टूट गये. आंकड़ों के अनुसार अचानकमार टाइगर रिजर्व में 2020-21 में 400 से अधिक पेड़ों की अवैध कटाई की गई.

इनमें वन विभाग ने 28 पीओआर दर्ज किए, लेकिन पिछले वर्ष की तरह एक भी मामले में आरोपी नहीं पकड़े गये और ना ही उनसे वसूली हुई. विभाग ने 28 में से 27 मामले को नस्तीबद्ध कर के छुट्टी पा ली.

इन दो सालों में एक भी मामले में आरोपी नहीं पकड़े गये, इसलिए कोई मामला अदालती कार्रवाई तक भी नहीं पहुंचा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!