माल्या का करोड़ों का लोन माफ !

नई दिल्ली | संवाददाता: माल्या का करोड़ों रुपये का कर्ज माफ कर दिया गया है. हालांकि इस वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को संसद में सफाई देते हुये बताया है कि, “लोन माफ़ नहीं किया गया है. हम अब भी रिकवरी के प्रयास कर रहे हैं. बस फ़र्क ये है कि आधिकारिक प्रविष्टि में इसे परफ़ार्मिंग असेट से नॉन परफॉर्मिंग असेट में बदल दिया गया है.”

उन्होंने आगे साफ किया कि राइट ऑफ का ये मतलब नहीं है कि लोन माफ कर दिया गया है. राइट ऑफ करने का मतलब सिर्फ इतना होता है कि बैंक ने अकाउंटिंग बुक में लोन को नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स यानी एनपीए मान लिया गया है. राइट ऑफ करने को लोन की माफी ना समझा जाए. माल्या से लोन की रिकवरी की सारी कोशिशें आगे भी जारी रहेंगी.


उल्लेखनीय है कि भारतीय स्टेट बैंक ने 63 कर्जदारों का 7016 करोड़ रुपये का बकाया लोन को डूबा हुआ मान लिया है. इन 63 कर्जदारों में लिकर किंग विजय माल्या का भी नाम था. माल्या पर देश के कई बैंकों का 9000 करोड़ रुपये का कर्ज बाकी है जिसमें से किंगफिशर एयरलाइंस पर 1201 करोड़ रुपये का लोन बाकी है.

जिन लोगों के कर्ज माफी की बात है उनमें किंगफिशर एयरलाइंस का करीब 1201 करोड़ रुपये, केएस ऑयल का 596 करोड़ रुपये, सूर्या फार्मास्यूटिकल का 526 करोड़ रुपये, जीईटी पावर का 400 करोड़ रुपये और साई इंफो सिस्टम का 376 करोड़ रुपये शामिल हैं. ये सभी कंपनियां विलफुल डिफॉल्टर डिक्लेयर हो चुकी हैं. भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई ने इन कर्जदारों का कर्ज ‘टॉक्सिक लोन’ के मद में डाल दिया है. एडवांस अंडर कलेक्शन अकाउंट के तहत ‘टॉक्सिक लोन’ का मतलब होता है बहीखाते से हटा देना.

विपक्ष ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाये थे कि वो जनता को तो नोटबंदी से परेशान कर रही है जबकि कारोबारियों का लोन माफ कर रही है. राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले के चलते लोग लाइनों में लगे हैं, वहीं ललित मोदी, विजय माल्या जैसे लोन डिफॉल्टर आजाद घूम रहे हैं.

इसके बाद से सोशल मीडिया में #ग़रीब_साफ़_अमीर_के_लोन_माफ़, #रोती_जनता_हँसता_मोदी हैशटैग ट्रेंड कर रहा है. ट्वीटर और फेसबुक पर ताने कसे जा रहे हैं, लोग अपनी भड़ास निकाल रहें हैं.

@RamPD78 ट्वीटर हैंडल से ट्वीट किया गया है, “राजस्थान के भाजपा विधायक भी मानते है अम्बानी अडानी को मोदीजी ने पहले ही बता दिया था.”

 

इसी ट्वीटर हैंडल से किसानों के कर्ज माफ कर देने की मांग की गई है, “पूंजीपतियों के करोड़ों के लोन माफ़ हो सकते है हमारे अन्नदाता का कुछ हजार/लाख का लोन माफ़ क्यों नहीं हो सकता?”

फेसबुक में नेमीचंद शेषमा ने कमेंट किया है, “वाह रे मोदी जी, आम आदमी लाइन में और चोर, उच्चके, लुटेरे भगोड़े विजय माल्या समेत 63 कर्जदारों के 7000 करोड़ रुपये माफ
#गरीब_साफ़_अमीर_के_लोन_माफ़”

फेसबुक पर एक संजय बंका ने लिखा है, “गरीब वर्ग का पैसा ले ले कर मोदीजी के करीबी मित्रो के कर्ज माफ़ किये जा रहे है. #गरीब_साफ़_अमीर_के_लोन_माफ़.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!